नादान -------सृष्टिराज चिंतक

by srishti raj chintak on October 14, 2013, 04:46:27 PM
Pages: [1]
ReplyPrint
Author  (Read 352 times)
srishti raj chintak
Maqbool Shayar
****

Rau: 5
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
2 days, 21 hours and 58 minutes.
Posts: 567
Member Since: Feb 2013


View Profile
Reply with quote
अगर छोड़ कर जाना था
तो मुझे दुनिया में ना लाना था
मुझे क्या पता था
मेरा-आपका साथ
एक दिन छूट जायेगा
आपने क्यों मुझे
दुनिया दिखाई
नाते-रिश्तों की
पहचान कराईं
अब देखो तो
कभी कोई, कभी कोई
धीरे-धीरे सब
छूटते जां रहे हैं
सोचता हूँ जब सब
सब कुछ छूटना ही था
तो मैं इनसे बंधा ही क्यों
ऐसा सोच कर अकसर
मैं दुखी हो जाता हूँ
तब लोग हँसते हैं
कहते हैं मैं बड़ा नादान हूँ
क्योंकि मैं अपना
बचपन-जवानी
नाते-रिश्ते
स्कूल-कालेज
गली-मौहल्ला
खेत-खलिहान
बाग-बगीचे
फूल-पौधे-पत्ते
यार-दोस्त,दुकान
सुबह-दोपहर-शाम
अन्धेरी-चांदनी रातें
अपना कुछ भी
छूट जाने पर
विचलित हो जाता हूँ
तब क्या होगा
जब ये दुनिया ही
मुझ से छूट जायेगी
सदा के लिए
हमेशा-हमेशा को
सच में माँ-पिताजी
ऐसे में मुझे
आपकी बहुत याद आती है
और ये बात मुझे
बार-बार सताती है
कि अगर आपको
मुझे छोड़ कर जाना था
तो मुझे दुनिया में
ना लाना था
और अगर जाना ही था तो
मुझ नादान को भी
अपने साथ ले जाना था





Logged
aqsh
Poetic Patrol
Khaas Shayar
**

Rau: 230
Offline Offline

Gender: Female
Waqt Bitaya:
54 days, 3 hours and 29 minutes.

aqsh

Posts: 13034
Member Since: Sep 2012


View Profile
«Reply #1 on: October 14, 2013, 07:08:58 PM »
Reply with quote
Bahut khoooooooob...
Logged
sksaini4
Ustaad ae Shayari
*****

Rau: 853
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
112 days, 20 minutes.
Posts: 36414
Member Since: Apr 2011


View Profile
«Reply #2 on: October 14, 2013, 08:17:09 PM »
Reply with quote
waah so nice
Logged
Sheba
General Patrol
Umda Shayar
*

Rau: 226
Offline Offline

Waqt Bitaya:
36 days, 1 hours and 23 minutes.
Posts: 6918
Member Since: Jul 2009


View Profile
«Reply #3 on: October 14, 2013, 11:07:47 PM »
Reply with quote
अगर छोड़ कर जाना था
तो मुझे दुनिया में ना लाना था
मुझे क्या पता था
मेरा-आपका साथ
एक दिन छूट जायेगा
आपने क्यों मुझे
दुनिया दिखाई
नाते-रिश्तों की
पहचान कराईं
अब देखो तो
कभी कोई, कभी कोई
धीरे-धीरे सब
छूटते जां रहे हैं
सोचता हूँ जब सब
सब कुछ छूटना ही था
तो मैं इनसे बंधा ही क्यों
ऐसा सोच कर अकसर
मैं दुखी हो जाता हूँ
तब लोग हँसते हैं
कहते हैं मैं बड़ा नादान हूँ
क्योंकि मैं अपना
बचपन-जवानी
नाते-रिश्ते
स्कूल-कालेज
गली-मौहल्ला
खेत-खलिहान
बाग-बगीचे
फूल-पौधे-पत्ते
यार-दोस्त,दुकान
सुबह-दोपहर-शाम
अन्धेरी-चांदनी रातें
अपना कुछ भी
छूट जाने पर
विचलित हो जाता हूँ
तब क्या होगा
जब ये दुनिया ही
मुझ से छूट जायेगी
सदा के लिए
हमेशा-हमेशा को
सच में माँ-पिताजी
ऐसे में मुझे
आपकी बहुत याद आती है
और ये बात मुझे
बार-बार सताती है
कि अगर आपको
मुझे छोड़ कर जाना था
तो मुझे दुनिया में
ना लाना था
और अगर जाना ही था तो
मुझ नादान को भी
अपने साथ ले जाना था







mere huzoor english ke font mein bhi likh diya karo meharbaani hogi icon_flower icon_flower icon_flower icon_flower!
Logged
RAJAN KONDAL
Umda Shayar
*

Rau: 10
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
24 days, 1 hours and 59 minutes.

main shaiyar ta nahi magar shaiyri meri zindgi hai

Posts: 5103
Member Since: Jan 2013


View Profile WWW
«Reply #4 on: October 15, 2013, 07:21:46 AM »
Reply with quote
अगर छोड़ कर जाना था
तो मुझे दुनिया में ना लाना था
मुझे क्या पता था
मेरा-आपका साथ
एक दिन छूट जायेगा
आपने क्यों मुझे
दुनिया दिखाई
नाते-रिश्तों की
पहचान कराईं
अब देखो तो
कभी कोई, कभी कोई
धीरे-धीरे सब
छूटते जां रहे हैं
सोचता हूँ जब सब
सब कुछ छूटना ही था
तो मैं इनसे बंधा ही क्यों
ऐसा सोच कर अकसर
मैं दुखी हो जाता हूँ
तब लोग हँसते हैं
कहते हैं मैं बड़ा नादान हूँ
क्योंकि मैं अपना
बचपन-जवानी
नाते-रिश्ते
स्कूल-कालेज
गली-मौहल्ला
खेत-खलिहान
बाग-बगीचे
फूल-पौधे-पत्ते
यार-दोस्त,दुकान
सुबह-दोपहर-शाम
अन्धेरी-चांदनी रातें
अपना कुछ भी
छूट जाने पर
विचलित हो जाता हूँ
तब क्या होगा
जब ये दुनिया ही
मुझ से छूट जायेगी
सदा के लिए
हमेशा-हमेशा को
सच में माँ-पिताजी
ऐसे में मुझे
आपकी बहुत याद आती है
और ये बात मुझे
बार-बार सताती है
कि अगर आपको
मुझे छोड़ कर जाना था
तो मुझे दुनिया में
ना लाना था
और अगर जाना ही था तो
मुझ नादान को भी
अपने साथ ले जाना था






Applause :clap Applause :clap Applause :clap Applause :clap Applause :clap bhut khub...
Logged
kittoo
Shayari Qadrdaan
***

Rau: 2
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
2 days, 13 hours and 34 minutes.

Koshish har dil Jeetne ki~~

Posts: 274
Member Since: May 2008


View Profile
«Reply #5 on: October 15, 2013, 10:14:27 AM »
Reply with quote
Lovely, bahut khubsoorat
Logged
nandbahu
Khaas Shayar
**

Rau: 111
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
18 days, 5 hours and 8 minutes.
Posts: 13625
Member Since: Sep 2011


View Profile
«Reply #6 on: October 15, 2013, 05:54:15 PM »
Reply with quote
bahut khoob
Logged
Advo.RavinderaRavi
Khaas Shayar
**

Rau: 135
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
61 days, 3 hours and 26 minutes.
I Love My Nation.

Posts: 12009
Member Since: Jan 2013


View Profile
«Reply #7 on: October 16, 2013, 10:40:24 AM »
Reply with quote
वाह वाह क्या बात है,
Logged
parinde
Shayari Qadrdaan
***

Rau: 5
Offline Offline

Waqt Bitaya:
1 days, 8 hours and 55 minutes.
Posts: 238
Member Since: Jan 2011


View Profile
«Reply #8 on: October 17, 2013, 01:47:36 PM »
Reply with quote
 Applause Applause Applause Applause
Logged
srishti raj chintak
Maqbool Shayar
****

Rau: 5
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
2 days, 21 hours and 58 minutes.
Posts: 567
Member Since: Feb 2013


View Profile
«Reply #9 on: October 18, 2013, 02:30:54 PM »
Reply with quote
Thanks a lot to all.
Logged
Pages: [1]
ReplyPrint
Jump to:  

+ Quick Reply
With a Quick-Reply you can use bulletin board code and smileys as you would in a normal post, but much more conveniently.


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
February 22, 2019, 02:16:34 PM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[February 22, 2019, 10:16:36 AM]

[February 22, 2019, 09:00:18 AM]

[February 22, 2019, 08:59:07 AM]

[February 22, 2019, 08:57:56 AM]

[February 22, 2019, 08:47:07 AM]

[February 22, 2019, 04:27:47 AM]

[February 22, 2019, 04:26:20 AM]

[February 21, 2019, 12:38:29 PM]

[February 21, 2019, 12:21:49 PM]

[February 21, 2019, 12:16:04 PM]
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.176 seconds with 24 queries.
[x] Join now community of 48359 Real Poets and poetry admirer