देश में रोजगार की समस्या क्यों ?---आर के रस्तोगी

by Ram Krishan Rastogi on June 22, 2019, 03:34:58 PM
Pages: [1]
Print
Author  (Read 157 times)
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 61
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
27 days, 20 hours and 30 minutes.

Posts: 4125
Member Since: Oct 2010


View Profile
गाँव खाली हो रहे,सब शहरों की तरफ ही भाग रहे |
खेती-बाड़ी छोड़ कर,कारखानों की तरफ भाग रहे ||

हलधर हल नहीं चला रहे,ट्रेक्टर वे सब चला रहे |
बुआई से कटाई तक,सब मशीनों से काम हो रहे ||

आबादी बढती जा रही,इस पर नियन्त्रण न हो रहे |
कब तक भार भू सहेगी,ये प्रश्न उभर कर आ रहे ||

मशीनीकृत सब चीजे हो गयी,लोग खाली घूम रहे |
हजारो व्यक्तियों का काम,कुछ व्यक्ति ही कर रहे ||

जरूरते सब की बढ़ गयी,सब के खर्चे ज्यादा हो रहे |
सयुक्त परिवार की जगह,एकल परिवार अब हो रहे ||

फिर पूछते हो तुम,रोजगार के अवसर क्यों कम हो रहे ?
पुरानी परम्पराओ को छोड़ कर,अब सब नई अपना रहे ||

आर के रस्तोगी
मो 9971006425  
 
Logged
surindarn
Sarparast ae Shayari
****

Rau: 258
Offline Offline

Waqt Bitaya:
97 days, 15 hours and 38 minutes.
Posts: 20303
Member Since: Mar 2012


View Profile
«Reply #1 on: June 22, 2019, 10:12:52 PM »
गाँव खाली हो रहे,सब शहरों की तरफ ही भाग रहे |
खेती-बाड़ी छोड़ कर,कारखानों की तरफ भाग रहे ||

हलधर हल नहीं चला रहे,ट्रेक्टर वे सब चला रहे |
बुआई से कटाई तक,सब मशीनों से काम हो रहे ||

आबादी बढती जा रही,इस पर नियन्त्रण न हो रहे |
कब तक भार भू सहेगी,ये प्रश्न उभर कर आ रहे ||

मशीनीकृत सब चीजे हो गयी,लोग खाली घूम रहे |
हजारो व्यक्तियों का काम,कुछ व्यक्ति ही कर रहे ||

जरूरते सब की बढ़ गयी,सब के खर्चे ज्यादा हो रहे |
सयुक्त परिवार की जगह,एकल परिवार अब हो रहे ||

फिर पूछते हो तुम,रोजगार के अवसर क्यों कम हो रहे ?
पुरानी परम्पराओ को छोड़ कर,अब सब नई अपना रहे ||

आर के रस्तोगी
मो 9971006425 
 

bahut khoob ati sundar. Thumbs UP
 Applause Applause Applause Applause Applause Applause Applause

Logged
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 61
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
27 days, 20 hours and 30 minutes.

Posts: 4125
Member Since: Oct 2010


View Profile
«Reply #2 on: June 23, 2019, 11:15:52 AM »
bahut khoob ati sundar. Thumbs UP
 Applause Applause Applause Applause Applause Applause Applause


Shri surindran ji shukriya
Logged
Pages: [1]
Print
Jump to:  


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
October 18, 2019, 06:15:16 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.153 seconds with 24 queries.
[x] Join now community of 48387 Real Poets and poetry admirer