अब तो आ जाओ सनम --आर के रस्तोगी

by Ram Krishan Rastogi on July 07, 2018, 01:38:13 AM
Pages: [1]
Print
Author  (Read 56 times)
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 52
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
24 days, 22 hours and 45 minutes.

Posts: 3598
Member Since: Oct 2010


View Profile
दिन ढल चूका है,शाम हो गई है
चिराग जल चुके है,रात हो गई है
मिटाने जा रहे है, वे अपने गम
न जाने कहाँ हो तुम ?
अब तो आ जाओ सनम

तेल जल चूका है,बाति कम हो गई है
चिराग की लो भी अब कम हो गई है
बुझ रहा है वह,निकल रहा उसका दम
न जाने कहाँ हो तुम ?
अब तो आ जाओ सजन

चाँद जा चूका है,चाँदनी अब सो गई है
तारे छिप चुके है,रौशनी कम हो गई है
अब तो गगन में छा गया है तम  
न जाने कहाँ हो तुम ?
अब तो आ जाओ बलम

सूर्य उदय हो चूका है,किरण आ गई है
पक्षी जाग चुके है,लालिमा आ गई है
यह सब देख कर मेरा निकल रहा है दम
न जाने कहाँ हो तुम ?
अब तो आ जाओ मेरे हम दम

पनिहारिन आ चुकी है गगरिया भर कर आ गई है
कालिया खिल चुकी है,तितलिया भी अब आ गई है
यह सब देख कर टूट रहा है मेरा भरम
न जाने कहाँ हो तुम ?
अब तो आ जाओ मेरे सनम

जवानी ढल चुकी है,बुढ़ापा आ गया है
जिन्दगी की शाम ढल चुकी है
आखरी वक्त आ गया है
एक बार तो प्यास बुझा दो सनम
मेरे पास समय है बहुत कम
न जाने कहाँ हो तुम ?
अब तो आ जाओ सनम


आर के रस्तोगी  
 
Logged
surindarn
Mashhur Shayar
***

Rau: 244
Online Online

Waqt Bitaya:
83 days, 3 hours and 25 minutes.
Posts: 15910
Member Since: Mar 2012


View Profile
«Reply #1 on: July 07, 2018, 03:32:37 PM »
 bahut khoob.
 Applause Applause Applause Applause Applause Applause Applause
Logged
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 52
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
24 days, 22 hours and 45 minutes.

Posts: 3598
Member Since: Oct 2010


View Profile
«Reply #2 on: July 08, 2018, 12:44:33 AM »
shri Surinder ji shukriya
Logged
Pages: [1]
Print
Jump to:  


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
July 18, 2018, 11:19:47 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.173 seconds with 25 queries.
[x] Join now community of 48295 Real Poets and poetry admirer