मुझ पर ही बाण क्यों चलाते हो ? आर के रस्तोगी

by Ram Krishan Rastogi on October 08, 2019, 06:18:17 PM
Pages: [1]
ReplyPrint
Author  (Read 261 times)
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 62
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
28 days, 1 hours and 49 minutes.

Posts: 4194
Member Since: Oct 2010


View Profile
Reply with quote
इस बार दशहरे पर रावण राम से बोला |
था रामलीला मैदान में तन कर बोला ||
तुम मुझ पर हर वर्ष बाण चलाते हो |
बाण चला कर मुझको तुम जलवाते हो ||
फिर भी जल कर मै नहीं मर पाता हूँ |
अगले वर्ष जिन्दा होकर लौट आता हूँ ||
पर्यावरण को इस तरह दूषित बनाते हो |
भारत की जनता को इस तरह सताते हो ||

पड़ोस में बैठा है जो शासक पाक में |
जो मिला रहा है विश्व को ख़ाक में ||
उस पर क्यों नहीं बाण चलाते हो ?
उसको क्यों नही सबक सिखाते हो ?
उसने ही असली आंतक मचाया है
भोली भली जनता का मरवाया है
बस मेरा ही पुतला बनाकर जलाते हो |
पुतला जलाकर क्या दिखाना चाहते हो ?

आर के रस्तोगी



Logged
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 62
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
28 days, 1 hours and 49 minutes.

Posts: 4194
Member Since: Oct 2010


View Profile
«Reply #1 on: October 08, 2019, 06:19:40 PM »
Reply with quote
इस बार दशहरे पर रावण राम से बोला |
था रामलीला मैदान में तन कर बोला ||
तुम मुझ पर हर वर्ष बाण चलाते हो |
बाण चला कर मुझको  जलवाते हो ||
फिर भी जल कर मै नहीं मर पाता हूँ |
अगले वर्ष जिन्दा होकर लौट आता हूँ ||
पर्यावरण को इस तरह दूषित बनाते हो |
भारत की जनता को इस तरह सताते हो ||

पड़ोस में बैठा है जो शासक पाक में |
जो मिला रहा है विश्व को ख़ाक में ||
उस पर क्यों नहीं बाण चलाते हो ?
उसको क्यों नही सबक सिखाते हो ?
उसने ही असली आंतक मचाया है 
कश्मीर को उसने दोजख बनाया है
आंतकवाद को क्यों नही मारना चाहते हो ?
क्या बिगाड़ा है जो मुझ पर बाण चलाते हो ?


आर के रस्तोगी



Logged
MANOJ6568
Khaas Shayar
**

Rau: 28
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
38 days, 17 hours and 59 minutes.

Astrologer & Shayer

Posts: 10037
Member Since: Feb 2010


View Profile
«Reply #2 on: October 09, 2019, 12:59:50 AM »
Reply with quote
इस बार दशहरे पर रावण राम से बोला |
था रामलीला मैदान में तन कर बोला ||
तुम मुझ पर हर वर्ष बाण चलाते हो |
बाण चला कर मुझको तुम जलवाते हो ||
फिर भी जल कर मै नहीं मर पाता हूँ |
अगले वर्ष जिन्दा होकर लौट आता हूँ ||
पर्यावरण को इस तरह दूषित बनाते हो |
भारत की जनता को इस तरह सताते हो ||

पड़ोस में बैठा है जो शासक पाक में |
जो मिला रहा है विश्व को ख़ाक में ||
उस पर क्यों नहीं बाण चलाते हो ?
उसको क्यों नही सबक सिखाते हो ?
उसने ही असली आंतक मचाया है
भोली भली जनता का मरवाया है
बस मेरा ही पुतला बनाकर जलाते हो |
पुतला जलाकर क्या दिखाना चाहते हो ?

आर के रस्तोगी




nice
Logged
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 62
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
28 days, 1 hours and 49 minutes.

Posts: 4194
Member Since: Oct 2010


View Profile
«Reply #3 on: October 10, 2019, 09:28:12 PM »
Reply with quote
shri manoj ji dhanyvad
Logged
nandbahu
Khaas Shayar
**

Rau: 114
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
18 days, 9 hours and 7 minutes.
Posts: 13689
Member Since: Sep 2011


View Profile
«Reply #4 on: October 16, 2019, 12:20:45 PM »
Reply with quote
बहुत बढ़िया
Logged
Pages: [1]
ReplyPrint
Jump to:  

+ Quick Reply
With a Quick-Reply you can use bulletin board code and smileys as you would in a normal post, but much more conveniently.


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
February 29, 2020, 06:51:47 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[February 29, 2020, 04:10:08 AM]

[February 29, 2020, 01:58:04 AM]

[February 28, 2020, 11:36:06 PM]

[February 28, 2020, 10:35:13 PM]

[February 28, 2020, 10:27:19 PM]

[February 28, 2020, 10:26:18 PM]

[February 28, 2020, 10:25:42 PM]

[February 28, 2020, 10:21:38 PM]

[February 28, 2020, 10:20:28 PM]

[February 28, 2020, 10:19:41 PM]
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.157 seconds with 24 queries.
[x] Join now community of 48465 Real Poets and poetry admirer