Latest Shayari update in Email!

Enter your email address:

Original Quotes of Yoindians
If love is blind then you should be love's eyes
Posted by:surindarn
See More»
Birthdays this Month
Pallavi Gupta on 21-01
nazar ghouri on 25-01
bekarar on 29-01
1tarun on 26-01
soniaji on 26-01
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
January 20, 2017, 01:22:50 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[January 20, 2017, 12:41:02 AM]

[January 19, 2017, 11:53:23 PM]

[January 19, 2017, 11:51:58 PM]

[January 19, 2017, 11:28:50 PM]

[January 19, 2017, 08:24:36 PM]

[January 19, 2017, 08:17:03 PM]

[January 19, 2017, 08:15:32 PM]

[January 19, 2017, 08:11:25 PM]

[January 19, 2017, 08:10:01 PM]

[January 19, 2017, 08:08:53 PM]
Members
Total Members: 55456
Latest: miss impossible
Stats
Total Posts: 1563524
Total Topics: 88189
Online Today: 472
Online Ever: 517
(April 10, 2011, 03:13:10 PM)
Users Online
Users: 1
Guests: 226
Total: 227

Welcome to Yoindia Shayariadab

A community of 55456 of real poets and poetry admirer from whole globe. Join Now and unleash the poet inside you!

WOH SAMJH NA PAYE KARLI KOSHISH HAR BAAR SAMJHANE KI
    RAHI NA KOI BAAT AUR APNI MOHABBAT UNKO DIKHAANE KI ,,,

NA JANE KYUN REHTEY HAIN ITNE GUROOR MEIN WOH HAR PAL
    HO GAYEE INTEHA MERI UNKI CHAHAT MEIN KHUD KO JHUKAANE KI ,,,

ZAKHAM DETE HAIN DIL PAR IS SE BH...
KHAMOSHI / SILENCE

"To sin by silence when we should protest makes cowards out of men."  Ella Wheeler Wilcox

Gar koi desh corrupt ho aur koi kuchh naa kehtaa ho...
To uss desh kaa hukmaraan kyun naa mazboot ho,
Aur kyun naa ek achhaa hukmaraan b...

            KAASHH...

Kaash mai ek beta hoti, gudiya kaanch ki na hoti
chahat amir aur garib ki hoti, mai taaj maa-baap ka hoti
ji pati apne sapno ko, udaan sapno ki mai bhar pati
chun leti apna rasta mai khud, agar mai ek beta hoti...

darr k na mai jee rhi hoti, duniya k zalimo se na mai...
जब भी सोचा उस को भूल किसी और का हो जाऊंगा
उस पल ही वो सामने आ कर खडी हो जाती है वो...
Jab-jab koi bojh uthaanaa padtaa hai.
Sar ko to har baar jhukaanaa padtaa hai.

Qasme, waade,pyaar,wafaa koi khel naheeN.
In meN ik din to mit jaanaa padtaa hai.

Furqat kee naagin jab dil ko dastee hai.

“DeewaaroN se sar takraanaa padtaa hai.”

Ghar ke bachhe jab...


सर्दी है बहुत सताओ ना
पास मेरे तुम आओ ना

करोगे बर्बाद मुझे तुम
जाओ जाओ जाओ ना

इश्क़ है तुझे किस से
कभी हमें भी बताओ ना

मेरा घर है तेरा घर
यहाँ तुम शर्माओ ना

दूंगा  साथ हर क़दम...
KHOJ

Jab tu ne pehlee baar hee kuchh kahaa thaa
To mere kaanon ne ik sangeet hee sunaa thaa
Abb to zindagi bhar kee yahee khoj ho gee...
Ke main tujhe kahin galat hee to naa samajhaa thaa


Surindar. N                       ...
पक्षियों से कह दो उड़ना छोड़ दो
हिम्मत है तो उनका हौसला तोड़ दो

लोग कहते है उम्मीद छोड़ दो
हिम्मत है तो सबका भरोसा तोड़ दो

आरक्षण की जंजीर पकड़ना छोड़ दो
हिम्मत है तो तुम जातपात तोड़ दो

खुले आसमान के नीचे जीना छोड़ दो
हिम्मत है तो अपना आशियाना तोड़ दो

-अंजान
Intzar krwana un ki adat thi
Aur un ka intzar krna humari dillagi

Baat baat pr rudh jana un ki adat thi
Aur har baat par un ko mnana humari  dillagi

Apne payar ko hum se chupana un ki adat thi
Aur apne pyaar ka izhar karte rehna humari dillagi  

Hum ko bhool jana un ki...



सुनो इन दिनो कुछ और हुआ,
ना आवाज़ हुई, ना शोर हुआ ।

दिल में कही एक कसक उठी,
उफ़्फ़ जैसे दर्द बेशुमार हुआ...
Jadd vichdan lagge,
dill mera roya Gumm de samundar kai,
Varona te sannu kise ne ki si,

Zakham lagge jo dill utte oh duunge bade,
Malham utte lona kise ne ki si,

Reh-reh ke hun oh naasoor bann gaye,
Gumm khaan di aadat ki pai Bains nu
Gumm dain de sannu dastoor bann gaye..!!
आदाब
122*4

हमेशा...  तुम्हारा !  हमारा .कहाँ  है ?
बताओ  न  रिश्ता वो  प्यारा कहाँ है

है आंसू  ही  आंसू  मुहब्बत में  यारो
मगर इस के बिन भी गुज़ारा कहाँ है

चले  आते चौखट पे तेरी  सितमगर
मगर  दिल  से तुमने पुकारा कहाँ ह...
अब जो खामोश हुई तो फिर न कहना
यूं ही मदहोश हुई तो फिर न कहना
तनहा तनहा तो गुजर ही गयी है
तेरी संगत हुई तो फिर न कहना
लबो पे यु तो ताला ही है
जबान फिसल गई तो फिर न कहना
वक़्त तो कभी हुआ नही हमारा
अब तो तेरा न हुआ तो फिर न कहना
सादगी को पसंद करना तेरे बस में नही
मुझमे नही वो बात फिर न कहना
AAO HUM MATDAAN KAREN
खुशियों के पावन दीपों से रौशन हिंदुस्तान करें !
आओ हम मतदान करें
ख़ुद अपना सम्मान करें

अपने मत का मोल समझिये, मत का देश से नाता है
देश का भाग जगाने वाला, देश का हर मतदाता है
कौन है सच्चा कौन है झूठा, इसकी हम पहचान करें  
आओ हम मतदान करें
ख़ुद अपना सम्मान करें

अ...
क्यों दर दर भटकता है तू
अपनी मांगों के लिए

क्यों रोज अड्डे बदलता है तू
अपनी चाहतों के लिए

क्यों तू उस इंसान के पास जाता है
जो खुद अल्लाह के भिखारी है

अरे ये तो बस एक व्यापार है
असल में इनका हाथ भी खाली है  
EK NAYAA ROZ

Kal kaa dhalaa suraj phir baahir hai aayaa
                Lo ek aur nayaa roz zaahir hai aayaa!

Gunchon kee aarzu unhein gul banaanein
        Paton ko zindagi deney maahir hai aayaa!

Zaraa zaraa roshan-o-halchal machaane
         Bashar ...
وکیل نامہ
اک مسخرے وکیل کی جب دال نہ گلی
سپریم کورٹ میں کوئ بھی  بات نہ چلی
کھسیانی بلی کی طرح کھمبا تھا نوچتا
پھر میڈیا پہ آ کے بے شرمی سے  بو لتا
کس نے کہا مقدمہ ہارے وکیل ھے؟
تاویل ایک سے ایک اور بھاری دلیل ھے
جو ہارتا ھے وہ تو موکل غریب ھے
ہم کیا کریں خراب جو اسکا نصیب ھے!
مظہر ...

EK KAHAANI

Ek subhaa ghorhhe pe swaar maharaj Ranjit Sigh ne dekhaa
Apni roz kee gashat mein ek faqeer bheekh maangte dekhaa!

Fakeer kehtaa thaa khuda bhi kitnaa be.insaaf hai
Kisee ko to detaa woh takhat-o-taaj hai...
Aur kisee ko pe...
ह्रदय के स्पंदन में
आज फिर तेरी  धड़कन है
वही तेरा नाम
मेरे रगों में बहने लगा
मेरे मन के दरवाजे पे
फिर से वही दस्तक है
क्या ये तू है
या फिर से तेरी आरज़ू है
आ आज फिर से मौका है
फना कर दे फिर से
बेवजह ही
बिन बताये
अब तो मज़ा ही आने लगा
तुझसे फना होने में
मेरे लिए तो इतना ही काफ...
"मैं तेरी ज़िंदगी हूँ "

मैं तेरी आंखों का पानी हूँ
मैं तेरे  ख़ाब की रवानी हूँ
मैं तेरे होटों की खिलती हसी
मैं तेरी खिलती जवानी हूँ
राज़ हूँ चुभता हुआ ोई मैं
मैं तेरी  चलती कहानी हूँ

मैं  तेरी  ज़िंदगी  हूँ,  ज़िंदगी  हूँ,  ज़िदगानी हूँ ...

मायूसी   हूँ ...
PEER KO DEKHO

Mujh peer ko dekho kyunkar jawan ho chalaa hoon
Aenaa kyaa dekhte ho woh to jhothh hee kahe gaa
Mujhe mere saaye mein bhi to kabhi dekho...
Gaarhhi kee roshani saath kabhi bhaagte to dekho


Surindar. N           ...
चले जा रहे तेरे नज़दीक
बगैर किसी बाधा के
ये तुम्हारी मोहब्बत हसि
या कशिश है तुम्हारी
खुद को देखना अच्छा सा लगने लगा है
इन निगाहों में तुम्हारी
सजना संवरना भी भाने लगा है कुछ
क्या ये तुम्हारा जादू है
या इसे मोहब्बत कहु
तुम्हारे हर शब्द का इंतज़ार सा रहता है
क्योंकि वो उन लबो से कानो तक आ...
दिल ये लेता रहा लेकर सिसकियाँ,आहें,भरते रहे जज़्बात,
ना आना था,ना कोई आया,फिर भी, जागते रहे सारी रात !!

ऐ काश फिर मिल जाएं शायद,यूँ बस इतनी सी बात हुई  ,
रात भर महकते रहे ख्वाब,क्या हसीं सी वो मुलाकात हुई  !!

कभी आएंगे फुर्सत में तुम्हे मिलने,दिल रखने को कहा था ,
बस उस रात से ही सोया नहीं दी...
jaan lete hain is tarah log mere dard e dil ko mujhe dekhkar
    labh kuch kehtey nahin aur aankhon mein chhupaya nahin jaata
आदाब

हर आदमी  के  दिल में  उजाला  दिखाई दे
रौशन  रहे  सदा  न  वो  काला  दिखाई  दे

है  ज़िन्दगी  सराब  सी सहरा  में  जल रही
तरसी  हुई  निगाह  को  प्याला  दिखाई  दे

औरत  की आबरु की  हिफाज़त अगर करे
तो  हर  बशर  यहाँ पे  निराला  दिखाई  दे

इंसानियत  की बात को ...
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.209 seconds with 20 queries.
[x] Join now community of 55456 Real Poets and poetry admirer