Latest Shayari update in Email!

Enter your email address:

Original Quotes of Yoindians
Rab jo bhi krda hai changa he krda h
Aj nahi ta kal sade wal da he kkrda h

Posted by:RAJAN KONDAL
See More»
Birthdays this Month
BANSI DHAMEJA on 31-05
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
May 28, 2017, 01:02:54 PM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[May 28, 2017, 11:01:50 AM]

[May 28, 2017, 10:59:45 AM]

by शेख़ चिल्ली
[May 28, 2017, 10:27:24 AM]

[May 28, 2017, 06:59:41 AM]

[May 28, 2017, 06:46:25 AM]

[May 28, 2017, 05:19:49 AM]

[May 28, 2017, 02:17:27 AM]

[May 28, 2017, 02:12:54 AM]

[May 28, 2017, 02:11:20 AM]

[May 27, 2017, 04:32:45 PM]
Members
Total Members: 48184
Latest: Kishan verma
Stats
Total Posts: 1567381
Total Topics: 88801
Online Today: 472
Online Ever: 517
(April 10, 2011, 03:13:10 PM)
Users Online
Users: 0
Guests: 286
Total: 286

Welcome to Yoindia Shayariadab

A community of 48184 of real poets and poetry admirer from whole globe. Join Now and unleash the poet inside you!

आदाब


इस  ज़माने   में  मुहब्बत  जो  किया  करते हैं
ज़ख़्म  अपने  ही  वो  हाथों  से सिया करते हैं

रात  भर  सोचते   रहते  हैं  सितारे   गिन  के
ईश्क  में  आंख वो  कब  बंद  किया  करते हैं

जो भी  बनते  हैं  मसीहा  सा  ज़माने क...
Tu jo mile mukamal ho mn jau
Adhura mn milne khuda ke bi hu
शेखचिल्ली की ग़ज़ल पर लोग टिप्पणी तो नहीं करते
फिर भी

कल से मौसम ख़राब है यारो
और उमस बेहिसाब है यारो

इश्क़ मुझको हुआ बुढ़ापे में
रोग यह लाजवाब है यारो

मैं ये जूते नहीं उतारूंगा
मेरी गन्दी जुराब है यारो

फोन की बैटरी बहुत कम है,
और चार्जर ख़राब है यारो

इश्क़ में दूरियां ज़ुरूरी हैं
आग मै...
Pyar har chahere ki pyari si muskan hoti hai,
Pyar hi zindagi ki pyari si saugat hoti hai,
Kabhi bichhad bhi jaaye to udas mat hona yaaro,
Pyar ki paheli thodi si mushkil hoti hai.

Shikha
❤️
उनका तसव्वुर अब इस ज़िन्दगी के साथ ही जाएगा.!
जब तक धडकेगा दिल उनका नाम पुकारता जाएगा.!!❤️
आंखों की यह पलकें झपका के तो दिखा
सच बताऊ यह भी ना कर पाएगा।

उस परमात्मा के कारण ही तेरा वजूद है
उसके बिना, मिट्टी में मिल जाएगा।

यह पैसा, यह शरीर सब नाशवान हैं
कुछ भी साथ ना जाएगा।

मरने के बाद भी, कुछ लोगो की जरूरत होगी
नहीं तो "सुखबीर" शमशान कैसे जाएगा।

जहाँ हद है सुंदरता की उस हद से आगे खूबसूरत है मेरा मन
उस खुदा ने जिस दिन ख़ूबसूरती का सपना सजाया होगा
उसी दिन ही उन्होंने मेरे मन को भी बनाया होगा।।।।
जब बनाया ये सुन्दर सा संसार अपने हाथो से
और इस जहाँ को जब खुदा ने खूबसूरती से रुब रू कराया होगा
उसी दिन ही उन्होंने मेरे मन को भी बनाया होगा।।
म...
QISAA-E-SITAM

Qisaa -e- sitam -e- joru koi nayee baat to nahin
Mukhtasir bayan hai koi waardaat to nahin hai
Prastish-e-joru nahin... khuda se bhi dua nahin
Hai to yeh qehr magar koi faryaad to nahin hai!

Shauq se sataa le misle tasveer k...
आदाब

ज़िंदगी  भर  हम सफ़र  करते रहे
हौसले  के   साथ  हम  बढ़ते  रहे

आंधियों के साथ  आईं बिजलियाँ
हर  घड़ी  हालात   से  लड़ते  रहे

रात दिन का  कारवाँ  चलता रहा
हम भी लेकर खा़ब को चलते रहे

हम बुझाते ज़िंदगी की प्यास क्या
पेट  की  ही  आग  में  जलते  रहे

...
कुछ ख्वाब जिन्दगी में
हमेशा अधूरे रह जाते हैं।

अरे दूसरों को क्या समझाऊ मैं,
अपने ही समझ नहीं पाते हैं।

अरे हमसे भी तो पूछ कर देखो,
हम क्या चाहते हैं।

"सुखबीर" जो अपने विचार प्रगट नहीं करते,
वह जीते ही, मर जाते हैं।


,بنائے گئے ہوں گے جب,,,,,, ہونٹ تیرے
Bana-ye gaye hoan ge jab hoant tere
شفق نے لئے ہوں گے جی بھر کے بوسے  
Shafaq ne leay honge ji bhar ke bosay
گل و لالہ سے بھی تو لی ہو گی سرخی
Gul o Lala se bhi to lee ho gi surkhi
لیا ہو گا  خون جگر  عاشقو ں سے
lia hoga khoon e jigar Ashiqoan se
...
Zindagi ko pal har pal
Badalte dekha h hum ne
Apni anKho se behate ansuo ko ankho se Behane se roka hai hum ne

 apne dil ko tut kar
simatte dekha h hum ne
raato ko jag kr aksar chand ko zameen se baate krte dekha hai hum ne

Shuba kheato ki hari bhari
kiyario mein kuc...
Humari vo mulaqat kuchh pyari si lagi,
Door hokar bhi dil ki duri kam si lagi,
Aankho mai muhobbat or hotho pe hansi,
Zindagi mai aapki muhobbat jaruri lagi.

Shikha
MAZHAB

Mazhab aam aadmee suchh hee maante hain
Daanashmand isse jhoothh hee jaante hain
Aur hakim jaante hain isskaa istemaal...

"MohaN"

Aankhon mein tumhari tasveer nahin nazar rakhtey hain
    Yun hi nahin har manzar humein haseen lagtey hain

Zamaane ko kya pata dillagi aur dil ki lagi ka sanam
     Pyar mohabbat ko bas zahen mein bana kar  khel rakhtey hain

Toot kar bikhar jaana dilbar ki chahat...
लगता है कवि हो जाऊँगा...
सुनने लगा हूँ दिल की बातें,
आने लगीं पुरानी यादें ,
शायद कलम उठाऊँगा । लगता है…
सूनी छ्त और रात अँधेरी
गुम - सुम धूम रहा हूँ
बहकी - बहकी पुरवाई में
शायद मैं खो जाऊँगा । लगता है…
सपनों के महलों पर चढ़कर
चाँद सितारों से बातें कर
रेतों के इक त...
Jism mein saanson ka bhoj ab saha nahin jata 
    Kya karein apki berukhi ke sath jiya nahin jata

Bohut samjha liya is pagal dil ko ke sambhal ja
    Kya karein woh bhi sahi ke tukdon mein dadhka nahin jata

Bechainiyon udhasiyon se rishta atoot sa ban gaya hai
मियाँ हापुस में बिलकुल दम नहीं है
दशहरी का अभी मौसम नहीं है

मैं दिन में दो ग़ज़ल कहता हूँ साहिब
कि घर पे आजकल बेग़म नहीं है

इसे अपना समझ के रख लो जानम
अरे दिल है हमारा, बम नहीं है

मियां पैंसठ बरस के का हो गया हूँ
मगर अब भी जवानी कम नहीं है

ये नख़रे छोड़ दो, जो है वो पी लो
यहाँ व्हिस्की त...
preet nahi teri kabhi chut sakti hai
maa ,tu mijhse nahi ruth sakti hai

bus ek tu hi to hai is jaha mei maa
mehasus her dard mera jo kar sakti hai

hu galat mei ye jaan kar bhi tu aye maa
mere liye saare jaha se tu lad sakti hai
[/fon...
Mat rula khud ko  is yahan mein ae dil mere
   Yahan rone wale par hasa jaata hai
Tujhay dekh kr khud sey kehta hoon
   kese ho sakta hai koi itna haseen
SUFYAN
MAZHAB

Sahib mazhab burey to nahin...
Ishq hee to hai yeh bhi roney ko!
Ishq bhi to koi burhaa nahin hai dosto...
Kuchh kam to nahin hai iss mein bhi roney ko!!


Surindar. N               "MohaN"

BAHAADUR

Hoorein dhondtaa janat jaataa bahaadur to dekho
Shamsheer-e-zuban chalaataa bahaadur to dekho
Majjaal ke badeeyan karney se yeh khauf khaaye...
Jahanum jaatye naa katraataa bahaadurto dekho                                                     ...
MITEE KAA PUTLAA

“ Man a creature made at the end the end of the week’s
                       work when God was tired.”
~ Mark Twain ~

Saptaa bhar kaam kartaa thakaa haaraa bechaaraa Khuda
Do din kee chutee jaaney kee jaldee mein bechaar...
शांति चाहता था मैं
पर शांति ढूंढ न पाया।

ऐकता चाहता था मैं
पर ऐकता रख न पाया।

समानता चाहता था मैं
पर जात पात को मिटा न पाया।

रोज मंदिर भी जाता था मैं
पर सब में खुदा देख न पाया।
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.173 seconds with 20 queries.
[x] Join now community of 48184 Real Poets and poetry admirer