Latest Shayari update in Email!

Enter your email address:

Original Quotes of Yoindians
waaaaaah kyaa baat hai. icon_flower icon_flower icon_flower
Posted by:surindarn
See More»
Birthdays this Month
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
July 30, 2015, 04:11:04 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[July 30, 2015, 03:50:53 AM]

[July 30, 2015, 03:50:38 AM]

[July 30, 2015, 03:33:28 AM]

[July 30, 2015, 03:31:35 AM]

by qalb
[July 30, 2015, 02:48:33 AM]

[July 30, 2015, 12:48:58 AM]

[July 30, 2015, 12:08:15 AM]

[July 29, 2015, 09:43:37 PM]

[July 29, 2015, 09:35:17 PM]

[July 29, 2015, 04:10:11 PM]
Members
Total Members: 47866
Latest: himanshu kumar rawat
Stats
Total Posts: 1535661
Total Topics: 84523
Online Today: 472
Online Ever: 517
(April 10, 2011, 03:13:10 PM)
Users Online
Users: 3
Guests: 216
Total: 219

Welcome to Yoindia Shayariadab

A community of 47866 of real poets and poetry admirer from whole globe. Join Now and unleash the poet inside you!

सतयुग में तो एक ही रावण था,
ये तो कलयुग हैं,
न जाने कितने रावण भरे हैं,
हर नुक्कड़ ,हर मोड़,हर चौराहे पर
कई रूप में मिल जाता हैं,
ना जाने किस रूप में कैसे कब
सामने आ जाता हैं,
हर दशहरे पर रावण जलाता हैं
कभी खुद के भीतर के
रावण को जलाता हैं,
तू कलयुग में आई हैं
सतयुग की आश धरे हैं,
सतयुग ...


                              dekhna  chaahe  hamaaree  chaal.
                              hatanaa   chaahe hamaaree khaal.

                              samjhe   koee   sandesaa    hai.
                              dekhe   jab    meraa     rumaal.

                  ...
FARMAAN-E-SHAHANSHAAEE

Sahib yeh waqt kisee ke liye bhi ruktaa hai hee nahin,
Aap waqt kaa saath naa dein munaasib hai hee nahin!  

Sahib kisee ne koi duaa maangi jo pooree naa huee…
Isskaa matlaab yeh to nahin keh khuda hai hee nahin!

Abhi kal kee hee to baat hai ke khuda banaayaa thaa,...
प्यार कभीं लहरो सा चपल
दिल में हिलोरे चंचल उफंता,
तो कभी शांत मन में
गंभीरता जगाता,
आँखों में मेरी
कई खुबसुरत सपने बुनता,
सांसो की लय का
धडकनो में ताना-बाना बुनता,
हर स्पंदन में बासुरी की गूंज भरता,
धरा सा डोलता दिल के भीतर मेरे ,
थिर आकाश देता सोचो को मेरे,
तेरे प्यार से दिल के पट खु...


                                 hain    her    insaa.n     key   khawaab   mokhtalif!
                                 kahii  maiqadaa    mokhtalif to  sharaab  mokhtalif!!

                                 naa     huii    poorii    qaabliyat      kisii   ...


Duniya ne humse puchha ki tumhe pata bhi hai ki pyar kya hota hai
Humne unhe kanto ki Sej ko phoolo Mai badal ke dikha diya

Fir un hone puchha ki aap kitna pyar karte ho apne pyar se
Humne unhe Pura samunder Jakar dikha diya

Fir un Sabne Hume puchha ki kaise sambhal Paoge apne pyar ko
H...
29-7-15
..................
सोचा आज कुछ सुंदर लिखना है,
आज कुछ आंखोको जिसे पढ़ना अच्छा लगे ऐसा लिखना है,
आज कुछ मनकी भावनाओंको स्पर्श करे  ऐसा लिखना है,
आज कुछ सांसे महक जाए  ऐसा लिखना है,
आज कुछ ह...
दिल के हाल को
खुद से छुपाऊ कैसे,
धडकनो की हलचल को
देह में थामु कैसे,
हर अहसास को
ज़माने से छुपाया,
खुद से नजर
झुकाऊ कैसे।
प्रभा प्रकास
SHRADHAANJALEE TO AMANPATI

Shradhaanjalee humaarey Rashtraapati qalaam Sahib missile.man ko iss liye ke,
Woh missile kaa dhandaa chorhh Amanpati kaa ohdah apnaaye theh,
Har Bhaarat vaasi aaj unhkee waah waah kehtaa hai…
Ke woh har bashar ke dil mein hee apnaa ghar banaaye t...
Zindegi jahan se suru hui thi,
Aaj phhirr wohin pe aa khadi hai,
Par Khatam hona aur bhi baki hai,
Kai khwabon ka tutna aur bhi baki hai,
Kuchh naye sapne sanwarne ko bhi baki hai,
Zindegi aur bhi baki hai....1

Zind...
किसी के पास बम है,किसी के पास गन है, किसी के पास 'वाहन' है
कैसे हैं ये लोग जिनमें जान बचाने का नहीं जान लेने का चलन है


सच्ची श्रद्धांजली शूरवीर के नाम

वो अँखियों का नूर था
लफ्जों का कोहिनूर था
था नाम उनका कलाम
भारतीयों का गुरुर था
पाया जिसने भारत रत्न
मानव...

अय हमसुखन वफ़ा का तक़ाज़ा है अब यही
मैं छोड़  दूं  तेरा  शहर  जो  तू  कहे  गली

क्यूंकर यकीन आये मुहब्बत का हमनशीं
कोई खिला ना फूल ना दिल की मिरे कली

निकलेगी बन के आग बरसेगी बन घटा
दिल की तमाम ख्वाहिशें जो यूँ की यूँ दबी

https://youtu.be/h7t1lRkAlS0

[img]https://www.google.co.in/url?sa=t&rct=j&q=&esrc=s&frm=1&source=web&cd=13&cad=rja&uact=8&ved=0CHYQ_B0wDGoVChMI5-mc4_j9xgIVUBqOCh2EigRo&url=https%3A%2F%2Fplus.google.com%2Fu%2F0%2F105408936249835935371&ei=NoW3Vef2D9C0...
 
 
 
 
 
Gudiya humari rani hai,
Karti apni manmani hai.
 
Lagti sabko pyari hai,
Lagti badi sayani hai.
 
Sabke dilo ko chhu jati hai,
Masum si uski hansi hai.
 
Gol matol sa chahera hai,
Lambe lambe baal hai.
 
Titliyo ki tarah firti raheti hai,
Kabhi idhar kabhi udhar milti hai...
28-7-15
......................
dr. ए.पी.जे.अब्दुल कलाम
......................  
सादा-सरल जीवन आपका,
उच्च व्यक्तित्व सदा आपका,
प्रेरणामय जीवन  आपका,
आदरणीय कार्य आपका,
लाखो सलाम करके सन्मान करे आपका,
आपके सुविचारो...

RIP---KALAAM SAHIB
वतन सदा आपका कर्ज़दार रहेगा..
ज़र्रे ज़र्रे पर आपका आभार रहेगा..
किस्से जब आपके नई नस्ल सुनेगी..
अफ़सोस आपकी रुखसत का सौ बार रहेगा..
आँखों से भीगी आपको कहते हैं अलविदा..
दिल में रहोगे जब तलक संसार रहेगा..
सज़दे सलाम आपको मरहूम कलाम साब..
हिंदुस्तान को आपसे सदा ही प्यार रहेगा....
                   
                     shradhhanjalee crybaby2 crybaby2 crybaby2 hamaare missile man ko
                    

                    hai  sargoshee  fizaa  me.N   khaamosh  see.
                    chalaa gayaa chupke se koee hamaar...
डॉ एपीजे अब्दुल कलाम - विनम्र भावभीनी श्रद्धांजलि ... 'रक़ीब'

हमारा बज़्मे हसद में घुटता है दम फ़ज़ा में है बरहमी सी
चलो, चलें उस चमन की जानिब, जहां हमें ताज़गी मिलेगी
जहाने फ़ानी में रस्मे-उल्फ़त का ख़्वाब लेकर 'रक़ीब' आया...
नहीं पता था, नहीं ख़बर थी, यहाँ भी बेगानगी मिल...
आज वतन दे रहा है उसको हजारों सलाम
एक सच्चा सपूत था एपीजे अब्दुल कलाम



Aaj Vatan De Raha Hai Usko Hajaaron Salaam
Ek Saccha Sapoot Tha        A P J Abdul Kalaam
फ़िज़ा में छाई सिंदूरी आभा हैं,
                                    साँझ के डूबते सूरज की
                                 पहली सुर्ख किरण की लाली
                                     चारो और फैल रही हैं,
                                   आसमा लाल-पिला सा  
                           ये तो खुद...
THINE LIPS

The soul gets drenched with life at the mention of thine lips,
Isa’s breath begets vigour at the mere mention  of thine lips,

The lord of beauty in heaven created the shape of thine lips,
Indra has’th them  filled  with nectar the  palm  of thine  lips,
डा. कलाम को कैसे करे सलाम अंतिम विदाई पर
उनके बताये रास्ते पर चले हम इस अंतिम जुदाई पर

रामेश्वरम में जन्म लिया यही पर दफना दिए जायेगे
भारत रत्न से सम्मानित थे ये तोह्फा साथ ले जायेगे

ज्ञान विज्ञानं में माहिर थे मिसाईलमैंन कहलाते थे
...
Kuch paak parinde pedo m namonishan chhod jate h..
Kuch shayar apni kalam k moti logo k dilo m saup jate h...
Khush kismat h bharat ki bhumi humari...
Jo kalam sahab jaise amulya ratan apni chhap sunhere akshar m chhod jate h..
RIP kalam sir../\



                former president of india dr APJ ABDUL KALAM  expired on 27.7.2015 at 6.30 pm INDIAN time cause of massive heart attack
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.161 seconds with 18 queries.
[x] Join now community of 47866 Real Poets and poetry admirer