Latest Shayari update in Email!

Enter your email address:

Original Quotes of Yoindians
Muaafi chahunga ap sabki post read nahi kar pa raha.. 1month hogya tiefide huye thik nahi ho RHA abhi tak.. Ek baar teh dil se muafi chahunga
Posted by:jeet jainam
See More»
Birthdays this Month
oneshayari on 15-08
Pramod singh on 22-08
abk2308 on 23-08
Keval Shah on 15-08
Aditya Goyal on 14-08
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
August 12, 2020, 11:45:49 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[August 12, 2020, 10:03:32 AM]

[August 12, 2020, 10:02:33 AM]

[August 12, 2020, 10:00:37 AM]

[August 12, 2020, 09:54:46 AM]

[August 12, 2020, 09:08:29 AM]

[August 12, 2020, 04:42:56 AM]

[August 12, 2020, 04:42:53 AM]

[August 12, 2020, 04:42:49 AM]

[August 12, 2020, 04:42:33 AM]

[August 12, 2020, 04:41:15 AM]
Members
Total Members: 8388
Latest: kapil
Stats
Total Posts: 1586940
Total Topics: 92984
Online Today: 472
Online Ever: 517
(April 10, 2011, 07:13:10 PM)
Users Online
Users: 0
Guests: 199
Total: 199

Welcome to Yoindia Shayariadab

A community of 8388 of real poets and poetry admirer from whole globe. Join Now and unleash the poet inside you!

मौका मिला तो दस्तूरे- इश्क़ निभा न सका 
पाक इश्क़ था हाथ भी उसे लगा न सका  
दिल की हर बात तुझसे मनोज हम करते है
यह अलग बात लब्जो को खामोश रखते है  
तुझसे क्या कहु कैसे कहु और क्यों कहु
इतना सा बता दे बस तेरे बिन कैसे रहू   
उसे देख,जनाब एक बात कहु वैसे
दायरों मैं रहकर इश्क़ करे कोई कैसे  
झूठ कहते है लोग संगदिल कभी नहीं रोते
गर ऐसा होता तो झरने पहाड़ो पर नहीं होते  
GAME OF CHESS

Every drop of blood does not have the faithfulness.
Nor every drop of blood has the friendliness.
Friends if you ever play a game of chess,
Then you better ought to know
That this life is not always about wining
Every time wi...
मैं जी रहा हूँ तन्हाई में,मुझे तन्हा छोड़ दो|
मेरे हाल पर मुझे ऐसा ही तुम छोड़ दो |

मौका दिया कोरोना ने तन्हा रहने का मुझे|  
अब इस कोरोना को बुरा कहना छोड़ दो||

दिल के अरमानो को अब दुखाना छोड़ दो |
जो मलहम लगा रहे,उसको लगाना छोड़ दो || <...
MURGE KEE BAANG

Khaa khaa murgi de andey
Bande tu hoyaa murgaa hee
Subhaa uthh tu baang hee dendaa
Sab nun jagaa lag jaandaa kam nun hee


Surindar N.   "MohaN"
FITRAT

MohaN fitrat hai har kisee kee apnee apnee
Yun naa yeh kabhi aazmaayaa kar
Har ek lafz hee hotaa hai yeh hosin...
Har dil mein laajawaab aadat ban saj jaayaa kar


Surindar N.    "MohaN"

लिखता हूं किसके लिए कलाम बाखूब जानते हो
अपना आज भी कहा आप हमें जनाब मानते हो 
जीत पर मेरी यह इश्क़ का कैसा वार
जीतकर भी मैं तुमसे मनोज गया हार    
अपने दिए ज़ख़्मो मैं नमक भरते है
ताजा मेरे हर ज़ख्म को वो रखते है 
क्या क्या छिपा है मेरे दिल के अन्दर
झील सी आंखों में है मेरी एक समुंदर  
परेशानियों ने मुझसे नाता क्या जोड़ा 
भरोसा जिन जिन पर था सबने तोडा  
Tumhe khabar hai HI nahi aye bahar,
Der bahut kar Di tumne ane me,
Ek zara muskarahat se mere mehboob ki,
Mere dil ki bagiya gulzar hai.

Vo ruthna vo manana vo mana k khud Ruth Jana,
Lagta hai jaise Ye sab bas ek fasana
Vo jabs...
जो तकदीर में नहीं वो तस्वीर बना बैठे हैं
उसे पाने की तदबीर में खुद को फ़कीर बना बैठें हैं,
कहते थे हर वो चीज़ होगी हासिल,जिसे
खुदा ने ना लिखा पर इसी कशमकश में
अपने हांथों में खिची बेहतरीन लकीर मिटा बैठें हैं।।
जब तू किसी की दुल्हन बनेंगी
मेरे घर से मेरा जनाजा उठेगा
चढ़कर डोली तू रोना तो चाहेगी
पर तेरी आंखों में अश्क ना होगा
जब तू कब्र से गुजरेगी मेरी
मैं पास होने का एहसास दिलाता रहूंगा
तू मेरी हमनशिं थी तुझे याद कर
इस आग में हमेशा जलता रहूंगा।
जानने लगे है लोग हमें अब तेरे नाम से
आदमी रहे न अब हम किसी भी काम के 
जब भी देखा बाप की आंखों में जिमेदारिया नज़र आई
बचपन से मुझे जनाब खिलोनो की दुकान रास न आई  
चाहे कोई हिन्दू हो या हो मुसलमान
हर धर्म कहता है बन के रहो इंसान
इश्क़ विश्क क्या है लोग कहा जानते है
जिस्मो के मेल को बस इश्क़ मानते है 
सूखे है अश्क़ सारे गीलापन कहा से लाओगे
पाक इश्क़ किया गर तो मेरी तरह पछताओगे 
गरीब करे तो ऐब अमीर करे तो शौक है
हैसियत देख लोग बदलते अपनी सोच है 
TAWEEZ

Tu mujhe ik taweez de aisaa ke woh chalaak ho jaaye
Sharat hai chalaak ho chalaaki ke baahir naa ho jaaye


Surindar N.     "MohaN"

SHAJJAR

MohaN dhoop to chorh de peechey
Teree zindagi ek lambaa safr hai
Ik chaav ke aa.jaa neechey
Ram naam subhaav ek shaant shajjar hai


Shajar = shade bearing tree;

Surindar N.  "MohaN"

Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.1 seconds with 19 queries.
[x] Join now community of 8388 Real Poets and poetry admirer