ए दोस्त

by nandbahu on August 06, 2012, 05:50:53 AM
Pages: [1]
ReplyPrint
Author  (Read 518 times)
nandbahu
Khaas Shayar
**

Rau: 114
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
18 days, 8 hours and 55 minutes.
Posts: 13687
Member Since: Sep 2011


View Profile
Reply with quote
सभी मित्रों को दोस्ती के दिन की शुभकानाएं ,
चंद पंक्तियाँ दोस्तों को समर्पित

एक बार खबर लगी
मित्र को मेरे दिल की लगी
अस्पताल में भर्ती है
दर्द से बेहाल है

दोस्त मिजाज से रंगीन था
मैं आदत से परिचित था
सोचा चलो एक बार देख लूँ
बीमारी का हाल जान लूँ

भागते हुए अस्पताल पहुँचा
हांफते हुए वार्ड तक पहुँचा
कमरे में ज्यों ही दाखिल हुआ
नर्स को उसके बिस्तर में बैठा पाया

दोस्त का नर्स के हाथ में हाथ था
दिल का हाल सुना रहा था
दोनों की आंख एक दूसरे पे गरी थी
आने जाने वालों की न खबर थी

तभी नर्स ने मुझको देखा
अपने को दोस्त से अलग किया
थर्मामीटर दोस्त के मुख में देते बोली
बाद में बुखार देख जाने को बोली

उसके जाते ही मैं बोला
मुझको समझाओ ये माजरा
वो बोला दिल मेरा मजबूर है
नर्स के लिए बेताब है

उसे दिल दे बैठा हूँ
इसलिए अस्पताल में लेटा हूँ
मुझे कुछ दिन इसी हाल में रहने दे
खबर लेने किसी को न आने दे

तू जा फिर न आना
मेरा हाल किसी को न बताना
बोझिल कदमों से बाहर निकला
निराश होते हुए दोस्त से बोला

हाय रे दिल्लगी तेरा जवाब नही
कब किस पे आ जाये मालूम नही
दोस्त अपना ख्याल रखना
दिल तक आपने को सीमित करना

जूते खाने की नोबत न आने देना
हमेशा की तरह मायूस न लोटना
फिर मैं मरहम पट्टी न करूंगा
दोस्ती का बहाना न सुनूंगा
Logged
sksaini4
Ustaad ae Shayari
*****

Rau: 853
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
112 days, 4 hours and 52 minutes.
Posts: 36414
Member Since: Apr 2011


View Profile
«Reply #1 on: August 06, 2012, 09:43:19 AM »
Reply with quote
 Applause Applause Applause :clap:happy friendship day
Logged
nandbahu
Khaas Shayar
**

Rau: 114
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
18 days, 8 hours and 55 minutes.
Posts: 13687
Member Since: Sep 2011


View Profile
«Reply #2 on: August 06, 2012, 11:13:57 AM »
Reply with quote
धन्यवाद सैनी जी , आपको भी "HAPPY FRIENDSHIP DAY"
Logged
khamosh_aawaaz
Umda Shayar
*

Rau: 54
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
23 days, 15 hours and 56 minutes.
zindagi tu kaisi hai

Posts: 5384
Member Since: Apr 2009


View Profile
«Reply #3 on: August 06, 2012, 01:23:44 PM »
Reply with quote
सभी मित्रों को दोस्ती के दिन की शुभकानाएं ,
चंद पंक्तियाँ दोस्तों को समर्पित

एक बार खबर लगी
मित्र को मेरे दिल की लगी
अस्पताल में भर्ती है
दर्द से बेहाल है

दोस्त मिजाज से रंगीन था
मैं आदत से परिचित था
सोचा चलो एक बार देख लूँ
बीमारी का हाल जान लूँ

भागते हुए अस्पताल पहुँचा
हांफते हुए वार्ड तक पहुँचा
कमरे में ज्यों ही दाखिल हुआ
नर्स को उसके बिस्तर में बैठा पाया

दोस्त का नर्स के हाथ में हाथ था
दिल का हाल सुना रहा था
दोनों की आंख एक दूसरे पे गरी थी
आने जाने वालों की न खबर थी

तभी नर्स ने मुझको देखा
अपने को दोस्त से अलग किया
थर्मामीटर दोस्त के मुख में देते बोली
बाद में बुखार देख जाने को बोली

उसके जाते ही मैं बोला
मुझको समझाओ ये माजरा
वो बोला दिल मेरा मजबूर है
नर्स के लिए बेताब है

उसे दिल दे बैठा हूँ
इसलिए अस्पताल में लेटा हूँ
मुझे कुछ दिन इसी हाल में रहने दे
खबर लेने किसी को न आने दे

तू जा फिर न आना
मेरा हाल किसी को न बताना
बोझिल कदमों से बाहर निकला
निराश होते हुए दोस्त से बोला

हाय रे दिल्लगी तेरा जवाब नही
कब किस पे आ जाये मालूम नही
दोस्त अपना ख्याल रखना
दिल तक आपने को सीमित करना

जूते खाने की नोबत न आने देना
हमेशा की तरह मायूस न लोटना
फिर मैं मरहम पट्टी न करूंगा
दोस्ती का बहाना न सुनूंगा



Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard Laughing hard =))veriiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii naaaaaaaaaaaaaaice ji veriiiiiiiiiiiii naaaaaaaaaaaace-------dear 1 rau to banta hai
Logged
nandbahu
Khaas Shayar
**

Rau: 114
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
18 days, 8 hours and 55 minutes.
Posts: 13687
Member Since: Sep 2011


View Profile
«Reply #4 on: August 06, 2012, 03:20:09 PM »
Reply with quote
Khamoshji, dhanyavad aapki sarahna evam Rau key liye, bus aap aisey hi hausala badhatey rahiyega
Logged
~Hriday~
Poetic Patrol
Mashhur Shayar
***

Rau: 114
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
101 days, 2 hours and 59 minutes.

kalam k chalne ko zamaana paagalpan samajhta hai.

Posts: 16238
Member Since: Feb 2010


View Profile WWW
«Reply #5 on: August 06, 2012, 03:36:12 PM »
Reply with quote
Applause Applause Applause Applause Applause  bahut sundar Nandbahu ji... bahut khoob likha hai aapne... Happy Friendship Day...!!!
Logged
Pages: [1]
ReplyPrint
Jump to:  

+ Quick Reply
With a Quick-Reply you can use bulletin board code and smileys as you would in a normal post, but much more conveniently.


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
December 13, 2019, 01:17:10 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[December 12, 2019, 11:38:34 PM]

[December 12, 2019, 10:17:03 PM]

[December 12, 2019, 10:15:17 PM]

[December 12, 2019, 10:14:04 PM]

[December 12, 2019, 10:13:21 PM]

[December 12, 2019, 10:12:46 PM]

[December 12, 2019, 10:11:45 PM]

[December 12, 2019, 10:11:06 PM]

[December 12, 2019, 10:10:16 PM]

[December 11, 2019, 10:00:47 PM]
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.161 seconds with 25 queries.
[x] Join now community of 48421 Real Poets and poetry admirer