आओ बच्चो तुम्हे बताये,हिस्ट्री इस्लामाबाद की ---आर के रस्तोगी

by Ram Krishan Rastogi on August 12, 2019, 10:04:49 PM
Pages: [1]
Print
Author  (Read 94 times)
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 62
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
28 days, 1 hours and 1 minutes.

Posts: 4185
Member Since: Oct 2010


View Profile
आओ बच्चो तुम्हे बताये,हिस्ट्री इस्लामाबाद की |
जिस धरती में पैदा होता,केवल आंतकवाद ही ||

भुट्टो को भी यहाँ इसने,फाँसी पर लटकाया था |
भुट्टो के बेटी बेनजीर को इसने ही मरवाया था ||
सत्ता में आते ही,उसका तख्ता पलट दिया जाता है |
फौजी उसका अपने आप ही मालिक बन जाता हे ||
ये छोटी सी एग्जाम्पिल दी,केवल इस्लामाबाद की |
जिस धरती में पैदा होता,केवल आंतकवाद ही ||

कारगिल का युद्ध देखो,जहाँ चली थी गोलियाँ |
मरने वाले बोल रहे थे,केवल पाक की बोलियाँ ||
ऊपर तोपे लगी थी,नीचे थी हिन्द की टोलियाँ |
नीचे से ही जबाब दे रही थी,हिन्द की गोलियाँ
यहाँ लगा दी थी जान,भारत के वीर जवानो ने |
झंडा फहराया था,कारगिल पर हिन्द के जवानो ने ||
तब भी पाक बोल रहा था,जय इस्लामाबाद की |
पाक की धरती से पैदा होते केवल आंतकवाद ही ||

अमेरिका ने देखो पाक को खूब धूल चटाई थी |
खूंखार लादेन को उसके घर में मार लगाई थी ||
बच सका न वो काफिर,जिसे पाक ने छिपा रक्खा था |
घर में घुस कर उसे मारा,जो सेना ने छिपा रक्खा था ||
देखो ये करतूते तुम,इस पागल इस्लामाबाद की |
पाक की धरती में पैदा होते,केवल आंतकवाद ही ||

उगता नहीं वहाँ कुछ,केवल आंतकवाद उगता है |
हाथ में कटोरा लेकर, वह भीख माँगा करता है ||
मिलता नहीं उसको,केवल नाक रगड़ता रहता है |
गीदड़ भपकी देकर,केवल जंग ए एलान करता है ||
देखो तुम ग़ुरबत पाक की राजधानी इस्लामाबाद की |
पाक की धरती में पैदा होते केवल आंतकवाद ही ||


आर के रस्तोगी
गुरुग्राम (हरियाणा)



  
Logged
surindarn
Sarparast ae Shayari
****

Rau: 259
Offline Offline

Waqt Bitaya:
99 days, 5 hours and 40 minutes.
Posts: 20778
Member Since: Mar 2012


View Profile
«Reply #1 on: August 12, 2019, 11:09:07 PM »
आओ बच्चो तुम्हे बताये,हिस्ट्री इस्लामाबाद की |
जिस धरती से पैदा होता,केवल आंतकवाद ही ||

भुट्टो को भी यहाँ इसने,फाँसी पर लटकाया था |
भुट्टो के बेटी बेनजीर को इसने ही मरवाया था ||
सत्ता में आते ही,उसका तख्ता पलट दिया जाता है |
फौजी उसका अपने आप ही मालिक बन जाता हे ||
ये छोटी सी एग्जाम्पिल दी,केवल इस्लामाबाद की |
जिस धरती से पैदा होता,केवल आंतकवाद ही ||

कारगिल का युद्ध देखो,जहाँ चली थी गोलियाँ |
मरने वाले बोल रहे थे,केवल पाक की बोलियाँ ||
ऊपर तोपे लगी थी,नीचे थी हिन्द की टोलियाँ |
यहाँ लगा दी थी जान,भारत के वीर जवानो ने |
झंडा फहरा दिया था,कारगिल पर भारत के जवानो ने ||
तब भी पाक बोल रहा था,जय इस्लामाबाद की |
पाक की धरती पर पैदा होते केवल आंतकवाद ही ||

अमेरिका ने देखो पाक को खूब धूल चटाई थी |
ओसामा बिन लादेन को उसके घर में मार लगाई थी ||
बच सका न वो काफिर,जिसे पाक ने छिपा रक्खा था |
घर में घुस कर उसको मारा,जो सेना ने छिपा रक्खा था ||
देखो ये करतूते तुम,इस पागल इस्लामाबाद की |
पाक की धरती पर पैदा होते,केवल आंतकवाद ही ||

आर के रस्तोगी
गुरुग्राम (हरियाणा)



 

waah waah ati sundar
 Thumbs UP Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley
Logged
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 62
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
28 days, 1 hours and 1 minutes.

Posts: 4185
Member Since: Oct 2010


View Profile
«Reply #2 on: August 13, 2019, 09:38:31 PM »
श्री सुरिन्द्रण जी शुक्रिया
Logged
surindarn
Sarparast ae Shayari
****

Rau: 259
Offline Offline

Waqt Bitaya:
99 days, 5 hours and 40 minutes.
Posts: 20778
Member Since: Mar 2012


View Profile
«Reply #3 on: August 13, 2019, 09:44:35 PM »
श्री सुरिन्द्रण जी शुक्रिया

You are welcome.
Logged
Pages: [1]
Print
Jump to:  


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
December 15, 2019, 08:55:38 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[December 15, 2019, 12:38:00 AM]

[December 14, 2019, 10:01:08 PM]

[December 14, 2019, 09:53:20 PM]

[December 14, 2019, 09:52:34 PM]

[December 14, 2019, 09:52:01 PM]

[December 14, 2019, 09:51:28 PM]

[December 14, 2019, 09:50:50 PM]

[December 14, 2019, 09:50:16 PM]

[December 14, 2019, 09:49:37 PM]

[December 14, 2019, 09:48:22 PM]
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.157 seconds with 24 queries.
[x] Join now community of 48421 Real Poets and poetry admirer