पाक को चेतवानी ---आर के रस्तोगी

by Ram Krishan Rastogi on August 31, 2019, 08:21:26 PM
Pages: [1]
Print
Author  (Read 60 times)
Ram Krishan Rastogi
Yoindian Shayar
******

Rau: 61
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
27 days, 18 hours and 28 minutes.

Posts: 4097
Member Since: Oct 2010


View Profile
जितनी है पाक औकात तेरी,उतनी कर अब तू बात |
तीन युद्ध हार चुका है,कितनी खायेगा अब तू मात ||

बना है तू सेना की कठपुतली,तेरे नहीं कोई साथ |
ले देके एक चीन बचा है,जिससे मिलाया तूने हाथ ||

देता है न्यूकिल्यर की धमकी,तू उसको भी छुटा कर देख |
बचेगा न तेरा कोई बन्दा,खुद गिरेबान में झांक कर देख ||

हाथ में है तेरा कटोरा,सारी दुनिया से भीख मांग रहा |
देगा तुझे कोई न भीख,पहले ही कर्ज में मरा जा रहा ||

भारत से क्या युद्ध करेगा,अब तेरी कोई औकात नहीं |
पहले घर के झगड़े निम्टा,युद्ध करना अब आसान नहीं ||

छूते ही माईक को तेरे रेल मंत्री की चीख निकल जाती है |
जरा उसको करंट लगा,तो नानी उसको याद आ जाती है ||

छोड़ दे कश्मीर की अब बात तू,पी ओ के की बात कर ले तू |
पहले तो ढाका गवायाँ था,अबकी बार जाफराबाद गवायेगा तू ||

जिस एटम बम की बात तू करता,ऐसे तो दिवाली पर फोड़ दिए |
मत दे तू गीदड़ भपकी हमको,तेरे जैसो को मुंह हमने तोड़ दिए ||

आजा अब ठीक लाईन पर,वर्ना लाईन ऑफ़ कण्ट्रोल पार कर देगे |
पहली बार तो लाहौर छीना था,अबकी बार पूरा पाक ही छीन लेगें ||

जिसके दम पर धमकी देता,वो भी तेरे साथ कभी नहीं आयेगा |
यू एन ओ की बात छोड़,वो तेरी मौत पर मोहरम नहीं मनायेगा ||
 

आर के रस्तोगी
गुरुग्राम (हरियाणा)
Logged
surindarn
Sarparast ae Shayari
****

Rau: 258
Offline Offline

Waqt Bitaya:
97 days, 10 hours and 10 minutes.
Posts: 20237
Member Since: Mar 2012


View Profile
«Reply #1 on: September 01, 2019, 05:56:13 PM »
जितनी है पाक औकात तेरी,उतनी कर अब तू बात |
तीन युद्ध हार चुका है,कितनी खायेगा अब तू मात ||

बना है तू सेना की कठपुतली,तेरे नहीं कोई साथ |
ले देके एक चीन बचा है,जिससे मिलाया तूने हाथ ||

देता है न्यूकिल्यर की धमकी,तू उसको भी छुटा कर देख |
बचेगा न तेरा कोई बन्दा,खुद गिरेबान में झांक कर देख ||

हाथ में है तेरा कटोरा,सारी दुनिया से भीख मांग रहा |
देगा तुझे कोई न भीख,पहले ही कर्ज में मरा जा रहा ||

भारत से क्या युद्ध करेगा,अब तेरी कोई औकात नहीं |
पहले घर के झगड़े निम्टा,युद्ध करना अब आसान नहीं ||

छूते ही माईक को तेरे रेल मंत्री की चीख निकल जाती है |
जरा उसको करंट लगा,तो नानी उसको याद आ जाती है ||

छोड़ दे कश्मीर की अब बात तू,पी ओ के की बात कर ले तू |
पहले तो ढाका गवायाँ था,अबकी बार जाफराबाद गवायेगा तू ||

जिस एटम बम की बात तू करता,ऐसे तो दिवाली पर फोड़ दिए |
मत दे तू गीदड़ भपकी हमको,तेरे जैसो को मुंह हमने तोड़ दिए ||

आजा अब ठीक लाईन पर,वर्ना लाईन ऑफ़ कण्ट्रोल पार कर देगे |
पहली बार तो लाहौर छीना था,अबकी बार पूरा पाक ही छीन लेगें ||

जिसके दम पर धमकी देता,वो भी तेरे साथ कभी नहीं आयेगा |
यू एन ओ की बात छोड़,वो तेरी मौत पर मोहरम नहीं मनायेगा ||
 

आर के रस्तोगी
गुरुग्राम (हरियाणा)

waah waah bahut khoob.
 Applause Applause Applause Applause Applause

Kisee kee aukaat kaa kabhi yaqin naa keejiye
Aap khud kyaa hain pehle zaroor jaan leejiye
Kaun jaane koi kis kee quwat pe fudaktaa ho
Aap khuda to nahin yeh bhi pehchaan leejiye
Logged
Pages: [1]
Print
Jump to:  


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
September 17, 2019, 11:40:12 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[September 16, 2019, 10:58:18 PM]

[September 16, 2019, 10:51:00 PM]

[September 16, 2019, 06:47:42 PM]

[September 16, 2019, 06:41:44 PM]

[September 16, 2019, 06:40:50 PM]

[September 16, 2019, 06:40:07 PM]

[September 16, 2019, 06:39:24 PM]

[September 16, 2019, 06:38:43 PM]

[September 16, 2019, 06:38:01 PM]

[September 16, 2019, 06:37:01 PM]
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.172 seconds with 54 queries.
[x] Join now community of 48361 Real Poets and poetry admirer