..क्या मुझे प्यार का सलीका भी नहीं आया था ?? (^_^) || मनसा ||

by Manish Kumar Khedawat on June 23, 2011, 09:53:52 AM
Pages: [1]
Print
Author  (Read 1203 times)
Manish Kumar Khedawat
Shayari Qadrdaan
***

Rau: 0
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
1 days, 17 hours and 55 minutes.

मनसा

Posts: 177
Member Since: Nov 2010


View Profile WWW


जब उसने कहा था मुझसे , मैं चाहती हूँ किसी और को ,  icon_silent
"तुम्हारी खुशी सबसे ऊपर है मेरे लिए" शब्द बस इत्ते ही निकाल पाया था |

लिखा था उसका नाम कमरे के हर कोने में , चूमता था हरदिन उन्हे ,
गम की उस रात , मैंने हर नाम को चूम चूम के मिटाया था || love9

कल शादी थी उसकी , बुलाया नहीं था उसने , मैं गया फिर भी , crybaby2
जिन हाथों से देता था तोहफा , उन्हीं से बरातियों का सोफा सजा के आया था ||

मुझे तो गिला भी नहीं की आज उसे मैं याद भी न रहा , tearyeyed
उसकी मोहब्बत में , मैं भी तो सारे जहाँ को भुला के आया था ||

उससे तो मैं बेवफाई का हिसाब माँगने क़ाबिल भी न हो सका , sad7
उसके इश्क़ के आगोश में , मैं भी तो कई दिल तोड़ के आया था ||

बस एक ख़याल ने उसकी मोहब्बत में ज़ान फ़ना होने से बचा ली , angel11
उसे शायद मिल जाए दूजा , पर माँ को मैं बड़ी मन्नतों से मिल पाया था ||

जिनकी चाह था मैं , उन अपनों को छोड़ भागा था मैं उस गैर के पीछे , DOH
लोग कहते हैं , " मनसा " तूझे तो प्यार का सलीका भी नहीं आया था ||


||  icon_king मनसा icon_king ||




http://creationsofmansa.blogspot.com/2011/06/blog-post_23.html

Logged
khwahish
WeCare
Khaas Shayar
**

Rau: 166
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
271 days, 51 minutes.

Posts: 11810
Member Since: Sep 2006


View Profile
«Reply #1 on: June 23, 2011, 11:55:43 AM »


जब उसने कहा था मुझसे , मैं चाहती हूँ किसी और को ,  icon_silent
"तुम्हारी खुशी सबसे ऊपर है मेरे लिए" शब्द बस इत्ते ही निकाल पाया था |

लिखा था उसका नाम कमरे के हर कोने में , चूमता था हरदिन उन्हे ,
गम की उस रात , मैंने हर नाम को चूम चूम के मिटाया था || love9

कल शादी थी उसकी , बुलाया नहीं था उसने , मैं गया फिर भी , crybaby2
जिन हाथों से देता था तोहफा , उन्हीं से बरातियों का सोफा सजा के आया था ||

मुझे तो गिला भी नहीं की आज उसे मैं याद भी न रहा , tearyeyed
उसकी मोहब्बत में , मैं भी तो सारे जहाँ को भुला के आया था ||

उससे तो मैं बेवफाई का हिसाब माँगने क़ाबिल भी न हो सका , sad7
उसके इश्क़ के आगोश में , मैं भी तो कई दिल तोड़ के आया था ||

बस एक ख़याल ने उसकी मोहब्बत में ज़ान फ़ना होने से बचा ली , angel11
उसे शायद मिल जाए दूजा , पर माँ को मैं बड़ी मन्नतों से मिल पाया था ||

जिनकी चाह था मैं , उन अपनों को छोड़ भागा था मैं उस गैर के पीछे , DOH
लोग कहते हैं , " मनसा " तूझे तो प्यार का सलीका भी नहीं आया था ||


||  icon_king मनसा icon_king ||




http://creationsofmansa.blogspot.com/2011/06/blog-post_23.html


Bahuttttt bahuttttt Khoooob Manishji

 Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley
Logged
MANOJ6568
Khaas Shayar
**

Rau: 24
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
36 days, 5 hours and 23 minutes.

Astrologer & Shayer

Posts: 9111
Member Since: Feb 2010


View Profile
«Reply #2 on: June 23, 2011, 09:20:13 PM »
VERY NICE


जब उसने कहा था मुझसे , मैं चाहती हूँ किसी और को ,  icon_silent
"तुम्हारी खुशी सबसे ऊपर है मेरे लिए" शब्द बस इत्ते ही निकाल पाया था |

लिखा था उसका नाम कमरे के हर कोने में , चूमता था हरदिन उन्हे ,
गम की उस रात , मैंने हर नाम को चूम चूम के मिटाया था || love9

कल शादी थी उसकी , बुलाया नहीं था उसने , मैं गया फिर भी , crybaby2
जिन हाथों से देता था तोहफा , उन्हीं से बरातियों का सोफा सजा के आया था ||

मुझे तो गिला भी नहीं की आज उसे मैं याद भी न रहा , tearyeyed
उसकी मोहब्बत में , मैं भी तो सारे जहाँ को भुला के आया था ||

उससे तो मैं बेवफाई का हिसाब माँगने क़ाबिल भी न हो सका , sad7
उसके इश्क़ के आगोश में , मैं भी तो कई दिल तोड़ के आया था ||

बस एक ख़याल ने उसकी मोहब्बत में ज़ान फ़ना होने से बचा ली , angel11
उसे शायद मिल जाए दूजा , पर माँ को मैं बड़ी मन्नतों से मिल पाया था ||

जिनकी चाह था मैं , उन अपनों को छोड़ भागा था मैं उस गैर के पीछे , DOH
लोग कहते हैं , " मनसा " तूझे तो प्यार का सलीका भी नहीं आया था ||


||  icon_king मनसा icon_king ||




http://creationsofmansa.blogspot.com/2011/06/blog-post_23.html

Logged
Satish Shukla
Khususi Shayar
*****

Rau: 49
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
25 days, 1 hours and 11 minutes.

Posts: 1850
Member Since: Apr 2011


View Profile
«Reply #3 on: June 24, 2011, 01:18:46 AM »

Manish Ji,

Nice thoughts..keep it up
All the best.

Raqeeb
Logged
Manish Kumar Khedawat
Shayari Qadrdaan
***

Rau: 0
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
1 days, 17 hours and 55 minutes.

मनसा

Posts: 177
Member Since: Nov 2010


View Profile WWW
«Reply #4 on: June 24, 2011, 06:21:11 AM »
zi aap sabhi ka bahut bahut aabhar Usual Smile
Logged
qalb
Umda Shayar
*

Rau: 160
Offline Offline

Gender: Male
Waqt Bitaya:
41 days, 21 hours and 16 minutes.
Posts: 7189
Member Since: Jun 2011


View Profile
«Reply #5 on: June 28, 2011, 08:26:01 AM »


जब उसने कहा था मुझसे , मैं चाहती हूँ किसी और को ,  icon_silent
"तुम्हारी खुशी सबसे ऊपर है मेरे लिए" शब्द बस इत्ते ही निकाल पाया था |

लिखा था उसका नाम कमरे के हर कोने में , चूमता था हरदिन उन्हे ,
गम की उस रात , मैंने हर नाम को चूम चूम के मिटाया था || love9

कल शादी थी उसकी , बुलाया नहीं था उसने , मैं गया फिर भी , crybaby2
जिन हाथों से देता था तोहफा , उन्हीं से बरातियों का सोफा सजा के आया था ||

मुझे तो गिला भी नहीं की आज उसे मैं याद भी न रहा , tearyeyed
उसकी मोहब्बत में , मैं भी तो सारे जहाँ को भुला के आया था ||

उससे तो मैं बेवफाई का हिसाब माँगने क़ाबिल भी न हो सका , sad7
उसके इश्क़ के आगोश में , मैं भी तो कई दिल तोड़ के आया था ||

बस एक ख़याल ने उसकी मोहब्बत में ज़ान फ़ना होने से बचा ली , angel11
उसे शायद मिल जाए दूजा , पर माँ को मैं बड़ी मन्नतों से मिल पाया था ||

जिनकी चाह था मैं , उन अपनों को छोड़ भागा था मैं उस गैर के पीछे , DOH
लोग कहते हैं , " मनसा " तूझे तो प्यार का सलीका भी नहीं आया था ||


||  icon_king मनसा icon_king ||




http://creationsofmansa.blogspot.com/2011/06/blog-post_23.html


 tearyeyed tearyeyed tearyeyed love9 love9 Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley Clapping Smiley
Logged
Pages: [1]
Print
Jump to:  


Get Yoindia Updates in Email.

Enter your email address:

Ask any question to expert on eTI community..
Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
October 20, 2017, 09:18:36 AM

Login with username, password and session length
Recent Replies
[October 20, 2017, 03:29:10 AM]

[October 19, 2017, 11:10:26 PM]

[October 19, 2017, 10:38:29 PM]

[October 19, 2017, 10:37:12 PM]

[October 19, 2017, 10:36:26 PM]

[October 19, 2017, 10:35:09 PM]

[October 19, 2017, 10:34:17 PM]

[October 19, 2017, 10:30:11 PM]

[October 19, 2017, 10:28:19 PM]

[October 19, 2017, 03:55:07 PM]
Yoindia Shayariadab Copyright © MGCyber Group All Rights Reserved
Terms of Use| Privacy Policy Powered by PHP MySQL SMF© Simple Machines LLC
Page created in 0.184 seconds with 24 queries.
[x] Join now community of 48233 Real Poets and poetry admirer